Market Samiksha



बारीक चावल में थोड़ा मंदा आने के बाद फिर सरपट दौड़ी तेजी

posted on : Give Ranking : 0 0
नई दिल्ली, (सुभाष भारती):
दिल्ली व आसपास के राज्यों में बारीक चावल में पूरे सप्ताह मंदे के बाद अंतिम दो दिनों में 200-300 रूपये प्रति किवंटल की बढ़ौतरी हुई। यह भी सत्य है कि नीचे वाले भाव में निर्यातक एक साथ लिवाली में आ गये। वहीं मंडियों में धान की आवक टूट गई। 
बीते सप्ताह के बीच में घरेलू-निर्यात दोनों ही मांग कमजोर पडऩे से सभी तरह के बारीक चावल में 100-200 रूपये का मंदा आ गया था। मंडियों में धान की आवक कम होने के बावजूद राइस मिलें खरीद करने से पीछे हट गईं, लेकिन शुक्रवार की शाम से ही दोपहर बाद से 1121 तथा 1509 सेला व स्टीम चावल में एक साथ निर्यातकों की लिवाली बढ़ जाने से नीचे वाले भाव से 200-300 रूपये का उछाल आ गया। हरियाणा के तरावड़ी, कैथल में 1121 सेला चावल 6750 रूपये नीचे में बिकने के बाद 7050 रूपये की ऊँचाई पर पहुंच गया। इसके इलावा नया स्टीम 7200 से छलांग लगाकर 7500 एवं पुराना 7800/7900 रूपये बोलने लगे। इसी तरह 1509 सेला भी 5750 से बढक़र 6100 रूपये की ऊँचाई पर जा पहुंचा। निसिंग लाइन की कुछ मिलें 6200 रूपये भी बोलने लगीं। शरबती सेला व स्टीम में भी इसी अनुपात में तेजी आ गई। धान 1401 एवं 1408 की आवक जिस तरह से बढऩे लगी थी, सप्ताहांत में मंडियों में आधी रह गई। इसके इलावा 1509 भी बहुत कम आ रहा है, जिससे इसके भाव यूपी में 150 रूपये बढक़र 2900-2950 रूपये तथा हरियाणा में 3050 रूपये हो गये। धान 1121 के भाव भी यूपी में 3550/3600 रूपये एवं हरियाणा में 3650/3700 रूपये बोलने लगे तथा इन भाव में भी चावल मिलों को सप्ताह के अंतिम दिन बढिय़ा कवालिटी का माल नहीं मिला।


RECENT POSTS



SEARCH



ARCHIVE



TOPICS










X