Market Samiksha



चावल की मांग में भारी इजाफे के बावजूद बासमती धान में मंदा क्यों

posted on : Give Ranking : 0 0
कुरूक्षेत्र, (सुभाष भारती):
हरियाणा में 3700 रुपए को पार कर गया बासमती 1121 धान अब 3550 रुपए बिक रहा है। इसी तरह डीपी 1401 भी 3350 रुपए बिकने के बाद अब 3100 रुपए हो गया है। यही हाल पीबी-1 धान का है। पिछले करीब एक सप्ताह से बासमती धान के दाम गिरने शुरू हो गए हैं। अचानक रेट में गिरावट शुरू होने से किसान परेशान हैं तो स्टॉकिस्टों के चेहरे पर भी चिंता की लकीरें आने लगी हैं। बाजार जानकारों से हमने जाना कि आखिर क्या है इस मंदी की वजह?

- खराब क्वालिटी से गिरे बासमती धान के भाव
बासमती धान और चावल के घरेलू और अंतरराष्ट्रीय बाजार के जानकार अमृतसर के नीरज शर्मा का कहना है कि बाजार में मंदा कमजोर क्वालिटी के कारण आया है। शर्मा अनुसार पंजाब में मौसम खराब होने की वजह से धान गिर गया जिससे दाना ठीक से नहीं बना और दागी हो गया। दूसरा, कंबाइन से बासमती धान ज्यादा निकाला जा रहा है। कंबाइन से निकाले धान में नमी ज्यादा है। इस वजह से ग्राहक इसे खरीदने से कतरा रहे हैं या फिर कम दामों पर खरीद रहे हैं।
हरियाणा की प्रमुख कंपनियों के लिए धान की खरीद करने वाले प्रमुख व्यापारियों ने अपना नाम न छापने की शर्त पर बताया कि बासमती चावल की अच्छी मांग के बावजूद भी ऊपर से उन्हें खरीद कम करने के आदेश मिले हैं। इसका कारण है बासमती धान की क्वालिटी का खराब होना। धान में नमी ज्यादा है, हरे दाने की मात्रा अधिक है और दाने की मोटाई भी कम है। इस वजह से बासमती 1121, डीबी-1401 और पीबी-1 की ग्राहकी घट गई है।

- बारिश ने बिगाड़ा खेल
हरियाणा और पंजाब में धान में बल्लियां निकलते समय बेमौसमी हुई बारिश के कारण बलियां निकलते वक्त पानी गिरने से दानों पर आने वाला बूर झड़ गया। इससे दाने कम बने और जो दाने बने उनका विकास अच्छा नहीं हुआ। दूसरा, बारिश के साथ हवा चलने से कुछ स्थानों पर खेतों में खड़ी धान की फसल जमीन पर बिछ गई, इससे भी क्वालिटी खराब हुई।

- चावल की अच्छी डिमांड
बाजार सूत्रों का कहना है कि बासमती चावल की डिमांड अच्छी है। देश में कैरी ऑवर स्टॉक भी ज्यादा नहीं है और इस प्रति एकड़ उत्पादन भी कम हो रहा है। इन्हीं कारणों के चलते सीजन की शुरूआत में बासमती की सभी किस्मों के भाव अच्छे बने थे। कीमतों में कमी का कारण क्वालिटी का खराब होना है। आगे अगर क्वालिटी में सुधार होता है तो भाव फिर चढ सकते हैं।


RECENT POSTS



SEARCH



ARCHIVE



TOPICS










X