Sangrur News



कैमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन द्वारा वार्षिक प्रोग्राम ड्रग अवेयरनैस का आयोजन

posted on :
सुनाम, 24 नवंबर (सुभाष भारती):
कैमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन सुनाम की तरफ से वार्षिक प्रोग्राम-2018 ड्रग अवेयरनैस आयोजित किया गया जिसमें जिले भर से कैमिस्ट एसोसिएशन के पदाधिकारीयों ने भाग लिया। इस प्रोग्राम में एस.एस.पी. संगरूर डा. संदीप गर्ग आई.पी.ऐस. की तरफ से बहादर सिंह राव डी.एस.पी. (आर.) संगरूर मुख्य मेहमान के तौर पर उपस्थित हुए जिन्होंने कैमिस्टों की मुश्किलों को ध्यानपूर्वक सुना और भरोसा दिलाया कि उनकी माँगें बिल्कुल जायज हैं और उच्च अधिकारीयों के ध्यान में लाकर निपटारा करवाएंगे। 
इस मौके पर विशेष मेहमान तौर पर पहुँचे आल इंडिया आर्गेनाइजेशन कैमिस्ट एंड ड्रगिस्ट (ए.आई.ओ.सी.डी.) के राष्ट्रीय उप प्रधान और महासचिव पंजाब कैमिस्ट एसोसिएशन सुरिन्दर दुग्गल ने ड्रग अवेयरनैस प्रोग्राम को सम्बोधन करते हुए कहा कि कमिस्टों को किन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए और अपने ग्राहक की पहचान करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि आये दिन नये कानून लागू हो रहे हैं जिनकी जानकारी रखना अति ज़रूरी है जिससे हर समस्या का हल निकल सके। उन्होंने आगे कहा कि हर कैमिस्ट को अपने परिवार में से एक को फार्मासिस्ट बनाना चाहिए जिससे नियमों की जानकारी मिल सके। उन्होंने कहा कि दवा विक्रेता को खासकर शड्यूल ऐच. और एन.आर.एकस दवाओं का हिसाब रखना चाहिए। दुग्गल ने जी.ऐस.टी. और आनलाइन दवाओं की बिक्री के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आल इंडिया आर्गेनाइजेशन कैमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन और पंजाब कैमिस्ट एसोसिएशन विशेष प्रयास कर रही है जिससे कैमिस्टों का भविष्य सुरक्षित रह सके। उन्होंने पंजाब सरकार के सेहत विभाग को भी अपील की कि नई पालिसी बनाने समय कैमिस्ट एसोसिएशन के अधिकारियों को भी साथ लिया जाये जिससे आने वाले समय में दवाओं का व्यापार सही ढंग के साथ चल सके। उन्होंने सुनाम कैमिस्ट एसोसिएशन को 21000 रुपए का चैक पंजाब कमिस्ट एसोसिएशन की तरफ़ से भेंट किया और बढिय़ा प्रोग्राम आयोजित करने पर सुनाम कैमिस्ट एसोसिएशन के सदस्यों को बधाई दी। 
इस मौके पर जी.ऐस. चावला कार्यकारी प्रधान पंजाब कमिशट एसोसिएशन ने बताया कि आज भी पंजाब की जेलों में 2500 से ज़्यादा लोग जेलों में बंद हैं जिन पर ऐन.डी.पी.ऐस. के पर्चे दजऱ् हैं जिनमें ज़्यादातर कैमिस्ट शामिल हैं परन्तु सरकार बड़े मगरमच्छों को पकडऩे की बजाये छोटे कैमिस्टों को परेशान कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य में दवाओं के नये लायसेंस बनने पर पाबंदी लगी हुई है जिसके साथ बेरोजग़ारी में विस्तार हो रहा है। उन्होंने कहा कि पंजाब कैमिस्ट एसोसिएशन ऐसे किसी भी कैमिस्ट का साथ नहीं देगी जो हैबिट फार्मिंग ड्रग, साईकोटरोफिक दवाओं की बिक्री का दुरुपयोग करेगा। इस मौके घणशाम कांसल प्रधान संगरूर इंडस्ट्रियल चेंबर ने भी एसोसिएशन के इस उद्यम की प्रशंसा की।
इस मौके एसोसिएशन के जिला प्रधान नरेश जिन्दल ने बताया कि शहीद ऊधम सिंह की धरती सुनाम और कैमिस्ट एसोसिएशन की तरफ से हर साल वार्षिक प्रोग्राम आयोजित किया जाता है, जिसमें कैमिस्ट एसोसिएशन के अधिकारियों को बुलाया जाता है। उन्होंने ड्रग अवेयरनैस प्रोग्राम के बारे में बोलते हुए कहा कि पंजाब एक सरहदी सूबा है, जिसके साथ हरियाणा, पाकिस्तान, राजस्थान का बार्डर लगता है, जिन सूबों में इन दवाओं पर कोई पाबंदी नहीं है, जिस करके नॉन-प्रोफेशन दूसरे राज्यों में से दवाएँ लाकर बेच रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि पंजाब में आनलाइन दवाओं की बिक्री के लायसेंस तुरंत बंद होने चाहिएं जिसके साथ लोग फेक पर्ची बनाकर घर बैठे ही नशों की दवाएँ मंगवा रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि नशा छुड़ाऊ केन्द्रों में डाक्टरों की कमी पूरी होनी चाहिए और यहाँ स्पलाई होने वाले ब्यूरोनारफिन की भी जांच होनी चाहिए और उसका पूरा रिकार्ड रखा जाना चाहिए। 
इस मौके पर एसोसिएशन के जि़ला उप प्रधान मंसूर आलम ने बताया कि जिले में धारा 182 का भी दुरुपयोग हो रहा है तथा पुलिस को सही जानकारी लेकर ही किसी कैमिस्ट की दुकान या उसके घर की तलाशी लेनी चाहिए। इस मौके पर राकेश जिन्दल जि़ला प्रधान कैमिस्ट एसोसिएशन मानसा और राकेश गोयल जि़ला कैमिस्ट एसोसिएशन बरनाला ने भी संबोधन किया। इस मौके जि़ला कैमिस्ट एसोसिएशन के चेयरमैन जगदीश राय, जि़ला महासचिव राजीव जैन, गोगी मडहाल, सतीश दिड़बा, मलकीत सिंह थिंद, योगेश चोपड़ा सुनाम ने भी अपने विचार रखे। इस मौके पर सुनाम कैमिस्ट एसोसिएशन की तरफ से एफलिक फार्मास्यूटीकल का विशेष तौर पर धन्यवाद किया जिन्होंने इस प्रोग्राम को सम्पंन करने में विशेष योगदान दिया।
इस मौके पर राजेश गोलड़ी, सुभाष गोयल, प्रमोद कुमार नीटू, चरनदास गोयल (डायरैक्टर कैमिस्ट एसोसिएशन), अजायब सिंह सैनी, सत्तपाल बांसल, नरेश बांसल, राकेश कुमार, डा. राम लाल गोयल, परमिन्दर सिंह, दविन्दर सिंह, गुरचरन सिंह, अशोक कुमार, जसवीर सिंह, विनोद कुमार हैपी, सुरिन्दर ढंड, मनोज कुमार, संजीव कुमार, प्रेम चंद खनौरी और संदीप जैन के इलावा बड़ी संख्या में कैमिस्ट उपस्थित थे।

0 0




RECENT POSTS



SEARCH



ARCHIVE



TOPICS










X