Milling News


नियमों को ताक पर रख फतेहगढ़ साहिब जिले में राइस मिलोंं को दिया गया धान: सैनी

posted on :
फतेहगढ़ साहिब, (व्यापार समीक्षा संवाददाता):
जिला फतेहगढ़ साहिब में स्थित खाद्य आपूर्ति विभाग के अधिकारीयों की कथित तौर पर मिलीभगत से शैलरों को धान एक सामान मात्रा में बांटने की जगह अपने चहेते मिलरों को अधिक धान दी गई तथा विभाग द्वारा धान बांटने में किए गए भेदभाव के कारण शैलर मालिकों में भारी रोष पाया जा रहा है। यह आरोप राइस मिलर्स एसो. पंजाब के अध्यक्ष तरसेम सैनी ने जिलाध्यक्ष इन्द्रजीत सिंह संधू के शैलर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए लगाये।
सैनी ने स्पष्ट करते हुए कहा कि पंजाब सरकार द्वारा राइस मिलर्स को दिए जाने वाले धान मिलिंग की पालिसी अच्छी नीति बनाई गई थी, परन्तु निचले कर्मचारियों और अधिकारीयों की तरफ से इस नीति पर चलने की जगह कथित तौर पर चहेतों को खुश करने की नीति अपनाई गई जिसकी वह उच्च स्तरीय जांच करवाने के लिए फूड एंड सप्लाई मंत्री व प्रिंसिपल फूड सचिव और डायरेक्टर को मिलकर धान मिलिंग पालिसी केएमएस 2018-19 का पालन न होने संबंधी अवगत करवाएंगे।
सैनी ने पत्रकारों की तरफ से पूछे सवाल के जबाव में कहा कि जिला फतेहगढ़ साहिब एसो. की तरफ से उठाई समस्या को लेकर उन्होंने संबंधित जिला अधिकारी से बात भी की थी, परन्तु समस्या का सही हल नहीं हो पाया। इस उपरांत जिला और ब्लाकों के राइस मिलर्स एसो. के पदाधिकारीयों की तरफ से पंजाब अध्यक्ष सैनी को मांग पत्र भी दिया गया। सैनी ने कहा कि जिन राइस मिलों को मिलीभुगत कर धान अधिक दी गई है उसकी जांच उपरांत यदि कम धान प्राप्त करने वाले शैलर को धान बराबर करने के लिए उठवाई जाती है तो इसका खर्चा एसो. मिल-बैठकर हल कर लेगी। इस अवसर पर सुरजीत सिंह शाही, लखबीर सिंह, गुरिन्द्र सिंह बस्सी पठाना, विनोद कुमार सरहिन्द, गुरिन्द्र सिंह धनोआ, सतीश कुमार सरहिन्द, सुधीर कुमार अरोड़ा, मनोज बित्थर, नरिन्द्र सिंह बस्सी पठाना आदि उपस्थित थे।

क्या कहते हैं डीएफएससी:-
जब इस संबंध में डीएफएससी हरजीत कौर के साथ बात की गई तो उन्होंने कहा कि उनकी तरफ से पंजाब सरकार की हिदायतों के अनुसार ही राइस मिलों को धान दी गई है और राइस मिलर्स एसो. अध्यक्ष सैनी द्वारा लगाये दोषों की गंभीरता के साथ जांच करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि जिले से बाहर किसी भी राइस मिल को धान नहीं दिया गया।

0 0


your name*

email address*

comments*
You may use these HTML tags:<p> <u> <i> <b> <strong> <del> <code> <hr> <em> <ul> <li> <ol> <span> <div>

verification code*
 






RECENT POSTS



SEARCH



ARCHIVE



TOPICS