Top News


एफ.सी.आई के जनरल मैनेजर थिंद द्वारा चावल स्वीकार करने के दिशा-निर्देश जारी

posted on : Give Ranking : 0 0
चंडीगढ़, (सुभाष भारती):
गत दिनों पंजाब के कई मिलों में बिहार और उत्तर प्रदेश के पी.डी.एस. चावल जोकि केन्द्र सरकार की अलग-अलग स्कीमों तहत महीनों में वितरित किए जाते हैं, में मिलने के पश्चात भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) पंजाब के जनरल मैनेजर अर्शदीप सिंह थिंद द्वारा वर्ष 2018-19 के चावल स्वीकार करने के लिए पंत्र नंबर क्यू.सी.21 जारी करके सभी जिला मैनेजरों को दिशा-निर्देश जारी किए हैं।
इस पत्र द्वारा जारी दिशा-निर्देशों अनुसार पीडीएस चावल को नये चावल में मिक्स करके एफसीआई को डिलीवर किए जाने की संभावनाएं हैं। इसके लिए प्रत्येक एफसीआई डिपो में जहां पर मिलरों द्वारा चावल डिलीवर किया जाना है, वहां पर डिपो मैनेजर द्वारा प्रतिदिन की लिस्ट बनाई जाएगी। इसमें उस दिन वहां मौजूद मिलों से कितना चावल लेना है, लिखना होगा और मिलों की क्षमता के अनुसार ही प्रतिदिन का चावल स्वीकार किया जाएगा। पत्र में साफ-साफ लिखा गया है कि अगर कोई मिलर अपनी क्षमता से ज्यादा चावल देने की कोशिश करता है तो वह पीडीएस चावल के री-साइकिल का मामला हो सकता है इसलिए प्रतिदिन डिपो में आने वाले चावल की लिस्ट बनानी अनिवार्य होगी।
इस संबंध में जब जिला कार्यालय से सम्पर्क किया गया तो उन्होंने बताया कि जनरल मैनेजर से मिली निर्देशों की कॉपी को सभी सैंटरों पर भेज दिया गया है और उसकी पालना के निर्देश भी दिए गए हैं। प्राप्त विवरण अनुसार इससे पहले एफसीआई नार्थ इंडिया ईडी द्वारा भी ऐसे ही निर्देश कुछ वर्ष पहले जारी किए गए थे लेकिन कई सैंटरों पर इसकी पालना नहीं की गई और मिले निर्देशों की सरेआम धज्जियां उड़ाई गई थीं। क्षमता से ज्यादा चावल कुछ मिलरों से लेने के कारण मिलरों को दूर के गोदामों में चावल डिलीवर करना पड़ा था और इससे एफसीआई को करोड़ों रूपए ट्रांस्पोर्ट का वहन करना पड़ा था। अगर इस बार भी निर्देशों की पालना नहीं होती तो फिर से एफसीआई को करोड़ों का ट्रांस्पोर्ट का खर्च सहना पड़ेगा।


RECENT POSTS




SEARCH



ARCHIVE



TOPICS










X