Haryana News


बेमौसमी हुई बरसात से धान में से निकलने वाले चावलों में बढ़ा डैमेज व डिस्कलर

posted on :
करनाल, (व्यापार समीक्षा संवाददाता):
करनाल राइस मिलर्स एसो. सीएमएमआर के अध्यक्ष विजय ठक्कर ने बताया कि लगातार हुई बेमौसमी बारिश के चलते धान की फसल का भारी मात्रा में नुक्सान हुआ है। बेमौसमी हुई बारिश की बजह से धान में से निकलने वाले चावलों में डैमेज, डिस्कलर व ब्रोकन की मात्रा करीब 5 से 6 प्रतिशत तक बढ़ गई है। इसके इलावा धान में से चावलों के निकलने की मात्रा में करीब 5-6 प्रतिशत की कमी आई है। उन्होंने सरकार से मांग की कि इन सभी तथ्यों को देखते हुए हरियाणा के राइस मिलरों को विशेष छूट दी जाए ताकि राइस मिलें बंद होने की कगार पर न पहुंचे, राइस मिलर को आर्थिक नुक्सान न हो। सरकार के वर्तमान नियमों के मुताबिक राइस मिलर्स सीएमआर का कार्य करने में पूरी तरह से असमर्थ नजर आ रहे हैं। 
हरियाणा प्रदेश राइस मिलर्स एंड डीलर्स एसो. के अध्यक्ष अमरजीत छाबड़ा ने करनाल राइस मिलर्स एसो. (सीएमआर) के अध्यक्ष विजय ठक्कर को हरियाणा प्रदेश राइस मिलर्स एंड डीलर्स एसो. का वरिष्ठ उपाध्यक्ष नियुक्त किया। उन्होंने कहा कि वर्तमान धान के सीजन में सीएमआर पॉलिसी के अन्तर्गत 5 प्रतिशत बैंक गारंटी का प्रावधान लीज वाली व नई राइस मिलों पर रखा है, यह वर्तमान समय में राइस उद्योगों के लिए आर्थिक नुक्सान वाला है। वर्तमान समय में इतनी बड़ी राशि का प्रबंध करना असंभव है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि 5 प्रतिशत बैंक गारंटी वाले नियम को तुरन्त हटाया जाए। वहीं नव-नियुक्त हरियाणा प्रदेश राइस मिलर्स एंड डीलर्स एसो. के वरिष्ठ उपाध्यक्ष विजय ठक्कर ने कहा कि जो जिम्मेदारी उन्हें सौंपी गई है उसे वह ईमानदारी के साथ निभायेंगे और सभी साथियों को साथ लेकर चलेंगे। राइस मिलर्स की जो उक्त मांगें हैं, सरकार उन मांगों को जल्द माने ताकि राइस मिलर्स को राहत मिल सके। अंत में उन्होंने किसानों को अपील करते हुए कहा कि वह मंडियों में धान सुखाकर ही लायें ताकि उन्हें फसल बेचने में कोई परेशानी न हो।

0 0






RECENT POSTS



SEARCH



ARCHIVE



TOPICS